Friday, 27 December 2019

गुरुत्वाकर्षण (Gravity)

गुरुत्वाकर्षण के कुछ मत्वपूर्ण प्रश्न : 

  • गुरुत्वाकर्षण क्या है - गुरुत्वाकर्षण वह आकर्षण बल है , जिस से पृथ्वी किसी वास्तु को अपनी और खींचती है। 
  • पृथ्वी के गुरुत्व के कारन ही पृथ्वी पर वायुमंडल उपस्थित है., इसी के कारन वायुमंडल के कण पृथ्वी को छोड़कर नहीं जा पते। 
  • चन्द्रमा का गुरत्वीय त्वरण (g ) का मान , पृत्वी के गुरुत्वीय त्वरण के मान का 1 /6  होता है। 
  •  पृथ्वी से चन्द्रमा की और जाने पर सरल ललक का आवर्तकाल बढ़ जाता है, क्योकि चन्द्रमा पर गुरुत्वीय त्वरण का मान घट जाता है। 
  • गुरुत्व के कारन जो त्वरण उत्पन्न होता है   उसी को गुरुत्वजनित त्वरण कहते है। तथा पृथ्वी की सतह पर इसका मान 9. 8 वर्ग  मीटर प्रति सेकंड होता है। 
  • पृथ्वी  तल से निचे या ऊपर जाने पर g  का  मान घटता है। 
  • g  का मान पृथ्वी के ध्रुव पर सर्वाधिक होता है। 
  • g  का मान विषुवत रेखा पर सबसे काम होता है। 
  • पृथ्वी की घूर्णन गति बढ़ने पर g  का मान कम होता है  और घूर्णन गति घटने पर g  का मान बढ़ जाता है। 
  • पृथ्वी के केंद्र पर g  का मान 0  होता है। 
  • यदि 2  पिंडो के बीच गुरुत्वाकर्षण बल F  है और यदि दोनों के द्रव्यमान उनके बीच की दूरी को सामान रखते हुए आधे कर दिए जाए तो गुरुत्वाकर्षण बल F /4  हो जायेगा। 
  • F =GM m/d²  में G  नियतांक  है। 
  • कोई सेब किसी वृक्ष से पृथ्वी पर गिरता है , यदि पृथ्वी द्वारा सेब पर आरोपित बल F 1  तथा सेब द्वारा पृथ्वी पर आरोपित बल F 2  है तो : दोनों बल बराबर होते है F 1 =F 2 
  • कोई लड़का डोरी से बंधे पत्थर  को किसी क्षैतिज वृताकार पथ में घुमा रहा है , यदि डोरी टूट जाए तो वह पत्थर वृत्तकार पथ पर किसी सरल रेखीय स्पर्शी  के अनुदिश गति करेगा। 

Thursday, 26 December 2019

प्रधानमंत्री मोदी ने लॉंच की नई अटल भूजल योजना





प्रधानमंत्री मोदी ने लॉंच की नई अटल भूजल योजना

केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावेड़कर के अनुसार भूजल समस्या से निपटने के  लिए नई  योजना शुरू की गई है जिसका नाम अटल भूजल  योजना रखा गया है. 
इस योजना की शुरुआत 25  दिसंबर को हुई है। 
अटल बिहारी वाजपई जी के 95 वीं  जयंती के अवसर पर इस योजना की शुरुआत हुई है। 

केंद्र सरकार ने इस योजना हेतु 6000  करोड़ रूपए आवंटित किये है 
इसमें 3000  करोड़ रूपए विश्व बैंक देगी। 
इस पूरी रकम को 5  साल में इस योजना पर खर्च करने है। 


इस योजना से उन क्षेत्रो में काम किया जाएगा जहा भूजल काफी नीचे चला गया है। इस से किसानो को भी लाभ मिलेगा। 
इस योजना से 8350  गांव लाभान्वित होंगे। 
इस योजना मे  7  राज्य शामिल हैं राजस्थान  , महाराष्ट्र , कर्णाटक , मध्यप्रदेश , उत्तरप्रदेश  , हरयाणा और गुजरात। 
इन 7  राज्यों  के  78  जिलों  मे  कुल 8350  ग्रामपंचायत  को शामिल किया गया है। 
इस योजना के तहत 2024  तक हर घर में पीने का पानी पहुंचाने  का  लक्ष्य है।