Friday, 29 December 2017

कम्फर्ट जोन की जमीन पर कुछ नहीं पनपता - बोमन


हर सफलता यहाँ से होकर जाती है 




नमश्कार दोस्तों, बात हर जगह एकदम सटीक बैठती है
अगर आप बदलाब के साथ सहज नहीं होते हैं तो आपकी तरक्की शत प्रतिशत खतरे में है | ऐसे में अपने कम्फर्ट जोन से बहार निकलना जरुरी है लेकिन उस से पहले ये जान लेना भी जरुरी है की क्या हम कम्फर्ट जोन मे है ? ये कम्फर्ट जोन वास्तव में है क्या ? 
सफल लोगो की सुने तो अगर आपको सब कुछ ठीक लग रहा है , कुछ नया करने की जरुरत महसूस नहीं हो रही है , या यु कहे की यदि आप " सब ठीक ठाक चल रहा है " की स्थिति में हैं तो आप कह सकते हैं की आप कम्फर्ट जोन में शामिल हो चुके हैं |

इससे बहार निकने की कोसिस नहीं करने पर ये n केवल आपकी ग्रोथ रोक देगा बल्कि भीतर ही भीतर आप ख़त्म हो जायेंगे | इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की आप कितने हुनरमंद है , लेकिन लगातार एक जगह पर बने रहना आपकी योग्यता पर सवाल खड़े कर देता है |क्योकि कड़ी मेहनत के बावजूद आप एक जगह पर ही अटके हुए हैं | हलाकि कम्फर्ट जोन से बहार निकलना खतरनाक होता है जोखम भरा होता है शायद इसीलिए लोग ऐसा नहीं कर पते लेकिन यदि आप एक बार इस जोन से बहार आ जाते हैं तो आप निश्चित ही अपनी चाही गई सफलता तक पहुच जाते हैं |


फेलियर का स्वाद चखें , सफलता का मज़ा बढेगा 

जीवन में जितनी जरुरी सफलता है उतना ही महत्वपूर्ण असफलता का स्वाद  चखना भी है | असफलता के अनुभव से गुजरे बिना आप सफलता का पूरा मज़ा नहीं ले सकते हैं | साथ ही असफलता से ही सफलता की अहमियत का पता भी चलता है |  इसलिए असफलता से घबराये बिना आगे बढ़ने की हिम्मत  रखकर यदि आप सफलता को प्राप्त करते हैं तो इस तरह से पाई सफलता का मज़ा भी दोगुना हो जाता है |

From Today's Dainik Bhaskar's YOUGLE

सदा आगे बढ़ते रहिये क्योकि आगे बढ़ते रहना ही सही मायने में जिंदगी को जीना है |

आपका मित्र 

No comments:

Post a comment